HEADLINES


More

by : pramod goyal
फरीदाबाद। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरु का 130वां जन्मदिवस हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ के कार्यालय सेक्टर-10 स्थित कांग्रेस भवन में श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस दौरान कांग्रेसियों ने सर्वप्रथम उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में मुख्य रुप से इस मौके पर मुख्य रुप से मदनवीर सौरोत, वरुण बंसल, विष्णु ठाकुर, आकाश, अमन, सुमित वत्स, ओमपाल कौशिक, भीम, रविन्द्र, उस्मान, गजराज, प्रदीप भट्ट, जितेंद्र चंदेलिया, भोला ठाकुर आदि मुख्य रुप से मौजूद थे। उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुमित गौड़ ने कहा कि पं. जवाहर लाल नेहरु जी एक आदर्श थे और हमेशा रहेंगे, उनके द्वारा देश निर्माण में दिए योगदान को भारतवासी कभी नहीं भूला सकते। उन्होंने कहा कि भारत का संविधान 1950 में अधिनियमित हुआ, जिसके बाद पंडित नेहरु ने आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक सुधारों के एक महत्त्वाकांक्षी योजना की शुरुआत की। उन्होंने विदेश नीति में भारत को दक्षिण एशिया में एक क्षेत्रीय नायक के रूप में प्रदर्शित करते हुए उन्होंने गैर-निरपेक्ष आन्दोलन में एक अग्रणी भूमिका निभाई। श्री गौड़ कहा कि आजादी के बाद अंग्रेजों ने करीब 500 देशी रियासतों को एक साथ स्वतंत्र किया था और उस वक्त सबसे बडी चुनौती थी उन्हें एक झंडे के नीचे लाना, नेहरु ने भारत के पुनर्गठन के रास्ते में उभरी हर चुनौती का समझदारी पूर्वक सामना किया। उन्होंने कहा कि जवाहरलाल नेहरू ने आधुनिक भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। उन्होंने योजना आयोग का गठन किया, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विकास को प्रोत्साहित किया और तीन लगातार पंचवर्षीय योजनाओं का शुभारंभ किया। उनकी नीतियों के कारण देश में कृषि और उद्योग का एक नया युग शुरु हुआ। नेहरू ने भारत की विदेश नीति के विकास में एक प्रमुख भूमिका निभायी।कांग्रेसियों ने कहा कि जवाहर लाल नेहरु को बच्चों को बहुत स्नेह था, जिसके चलते बच्चे उन्हें चाचा कहकर पुकारते थे और वह चाचा नेहरु के नाम से विख्यात हो गए। उन्होंने कहा कि देश के निर्माण में नेहरु की अह्म भूमिका रही, इसलिए आज उनके जन्मदिन पर उनके बताए मार्ग पर चलने का हम सभी का संकल्प लेते हुए समाज व देशहित में कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए।

by : pramod goyal
पलवल़ । इस बार भी पलवल जिला मंत्रीमंडल से अछूता रह गया। पलवल जिले की तीनों सीटों पर पहली बार कमल खिला था, लेकिन इसके बावजूद पलवल को मंत्रीमंडल में प्रतिनिधित्व नहीं मिल पाया। यह कयास लगाए जा रहे थे कि पलवल से इस बार भाजपा
के तीनों विधायकों में से एक को मंत्री अवश्य बनाया जायेगा। जिसमें दीपक मंगला नाम वैश्य नेता के रूप में अधिक चर्चित था और मंगला मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नजदीकी भी माने जा रहे थे। लेकिन ऐसा हो नहीं सका।


वर्ष 1996 से पलवल को मंत्रीमंडल में कोई स्थान नहीं मिला है। 1996 पलवल से हविपा टिकट पर चुनाव जीते तीनों विधायक कर्ण दलाल, हर्ष कुमार और जगदीश नायर मंत्री बने थे। लेकिन तब से अब तक कोई भी यहां से मंत्री नही बन पाया है। 2009 में कर्ण दलाल मंत्री बन सकते थे। लेकिन वे चुनाव हार गए और इनेलों टिकट पर यहां से सुभाष चौधरी चुनाव जीत गए। 2014 में कर्ण दलाल पलवल से चुनाव तो जीत गए, लेकिन प्रदेश में सरकार भाजपा की बन गई। इस बार भी पलवल जिले के भाज्य में मंत्री मिलना नहीं था। 2019 मे हुए चुनाव में पलवल जिले की तीनों सीटों पर भाजपा का कमल तो खिला, लेकिन यह मंत्रीमंडल की दौड में पिछड गया। फरीदाबाद लोकसभा की 9 सीटों में से सात पर भाजपा प्रत्याशी विजयी हुए, लेकिन मंत्री पद पर केवल बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा ही आसीन हो पाएं। लम्बे अरसे पलवल जिले को मंत्रीमंडल में जगह न मिलने से जहां यहां के नेता मायूस है, वहीं जनता भी निराश है।
by : pramod goyal
फरीदाबाद।  सेक्टर 7 में हुए चौहरे हत्याकांड के आरोपी को कल देर रात अदालत में पेश किया गया।
हत्या के आरोपी जिम ट्रेनर मुकेश पुत्र रामपाल सिह निवासी राजीव कालोनी नजदीक डबुआ मण्डी को,  क्राइम ब्रांच 48 ने शिर्डी से गिरफ्तार किया था।
पुलिस ने मांगा 3 दिन का रिमांड।  माननीय  श्री विवेक कादयान  की अदालत ने 3 दिन का पुलिस रिमांड किया मंजूर । पुलिस  रिमांड के दौरान आरोपी से पूछताछ जारी है ।

by : pramod goyal
चंडीगढ़. हरियाणा की 14वीं विधानसभा का पहला मंत्रिमंडल विस्तार गुरुवार को किया गया। इसमें 6 कैबिनेट और 4 राज्यमंत्रियों ने शपथ ली। राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने सभी मंत्रियों को शपथ दिलाई। जिनमें भाजपा के 8, जजपा के 1 और 1 निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह ने शपथ ली। विधानसभा चुनाव में 40 सीटें जीतने वाली भाजपा ने 10 सीट वाली जजपा और 7 निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई है।
  • कैबिनेट मंत्री की शपथ ली- अनिल विज, कंवरपाल गुर्जर, मूलचंद शर्मा, रणजीत सिंह, जयप्रकाश, बनवारी लाल। 
  • राज्यमंत्री की शपथ ली- ओमप्रकाश यादव, कमलेश ढांडा, जजपा के अनूप धानक, हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह। 

by : pramod goyal
चंडीगढ़. सीएम मनोहर लाल ने कहा कि बढ़ती सड़क दुर्घटनाएं भी एक चुनौती का विषय है। ट्रकों व अन्य वाहनों की ओवरलोडिंग भी इसका एक मुख्य
कारण है और अधिकारियों को ओवरलोडिंग के चालान काटने से बचना नहीं चाहिए। जिला सड़क सुरक्षा परिषदों की नियमित बैठकें की जानी चाहिए। लोगों को यातायात नियमों के बारे जागरूक किया जाना चाहिए। राष्ट्रीय राजमार्गों पर यातायात संकेतक और दुर्घटना संभावित खतरनाक मोड़ों पर विशेष चिन्ह अंकित किए जाने चाहिएं, ताकि वाहन चालक पहले से ही सचेत हो जाए। हरियाणा विजन जीरो लागू होने के बाद दो महीने में प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में 11 प्रतिशत की कमी आई है। हरियाणा सड़क सुरक्षा एसोसिएट के साथ हुए एमओयू को आगामी दो महीने के लिए और बढ़ा दिया गया है।

by : pramod goyal
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने 14 राफेल लड़ाकू विमान के सौदे को बरकरार रखते हुए Dhvs 14 दिसंबर, 2018 को दिए फैसले के खिलाफ दाखिल राफेल समीक्षा याचिकाओं को खारिज कर दिया। केंद्र सरकार को राहत देते हुए मुख्य न्यायाधीश के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि इसकी अलग से जांच करने की जरूरत नहीं है। अदालत ने केंद्र की दलीलों को तर्कसंगत और पर्याप्त बताते हुए माना कि केस के मेरिट को देखते हुए इसमें दोबारा जांच के आदेश देने की जरूरत नहीं है। 

by : pramod goyal
नई दिल्ली : 
सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सबरीमाला में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे (Sabarimala Case) को लेकर दाखिल की गई पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए इसे 7 जजों की संविधान पीठ के पास भेज दिया है. जानकारी के मुताबिक यह फैसला 3-2 के बहुमत से हुआ. अब इस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट की 7 जजों की बड़ी बेंच सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि SC के फैसले सभी के लिए बाध्यकारी हैं और 2018 का फैसला बरकरार रहेगा. आपको बता दें कि सबरीमाला मामले में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने फरवरी में बहस पूरी कर ली थी. 

by : pramod goyal
नई दिल्ली : 
कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का मामला बंद हो गया है. जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी का माफीनामा स्वीकार कर लिया. मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को चेतावनी दी और कहा कि राजनीतिक बयानबाजी में कोर्ट को न घसीटें. एससी ने राहुल गांधी को भविष्य में और सतर्क रहने को भी कहा. 
by : pramod goyal
फरीदाबाद। फरीदाबाद लिटरेरी एंड कल्चरल सेंटर ने शहर में साहित्यिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए जश्न ए फरीदाबाद के नाम से दो दिवसीय
कार्यक्रम का आयोजन करवाया जा रहा है। आगामी 16 व 17 नवंबर को होने वाले इस कार्यक्रम में पुस्तक मेला, मुशायरा, एक शाम गालिब के नाम, नाट्य व चित्रकला प्रतियोगिता सहित कई प्रस्तुतियां शामिल की हैं। संस्था के अध्यक्ष विनोद मलिक ने आज एक पत्रकार सम्मेलन में उक्त जानकारी देते हुए बताया कि उक्त कार्यक्रम फरीदाबाद के जे सी बोस विशवविद्यालय परिसर में किया जा रहा है। जिसके लिए किसी प्रकार की टिकट नहीं रखी गयी है, प्रवेश निशुल्क रखा गया है। संस्था के अध्यक्ष विनोद मलिक ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज की युवा पीढ़ी मोबाइल फोन तथा कंप्यूटर में खोती जा रही है। जिसके कारण शहर में साहित्यिक व सांस्कृतिक आयोजन भी लगभग समाप्त से हो गए हैं। उनकी संस्था ने शहर की नयी पीढ़ी को सामाजिक, सांस्कृतिक व साहित्यिक आयोजनों से जुडऩे व करवाने के लिए प्रेरित करने का बीड़ा उठाया है, जिसके तहत उक्त कार्यक्रम करवाया जा रहा है।
क्लब के महासचिव मनोहरलाल नंदवानी ने कहा कि पिछले दो दशकों में इस प्रकार के कार्यक्रम लगभग समाप्त से हो गए हैं, इन्हे जीवित रखना जरूरी है। संस्था के ही पदाधिकारी अश्वनी कुमार सेठी ने कहा कि इन कार्यक्रमों के रुक जाने से शहर भी ठहर सा गया है और इंसान का जीवन मशीनी बन कर रह गया है। हर व्यक्ति भागम भाग में लगा है। संस्था की संस्थापक सदस्या सुरेखा बांगिया ने कहा कि इंसान की इसी आपाधापी ने  लोगों का सुकून छीन लिया है और लोग डिप्रेशन में जा रहे हैं। इस प्रकार के कार्यक्रम निहायत आवश्यक हैं।  सरकार व प्रशासन को भी ऐसे कार्यक्रमों की पहल करनी चाहिये तथा उन्हें प्रोत्साहन देने के लिए आडिटोरियम व हाल निशुल्क प्रदान करना चाहिये। चूंकि ये संस्थाए निस्वार्थ रूप से समाज के लिए कार्य  कर रही हैं।
इस अवसर पर संस्था के कोषाध्यक्ष जगदीप मैनी, हरीश अरोड़ा, विजय कुमार अग्रवाल, बी आर भाटिया, जगत मदान, शुभ तनेजा तथा वासु मित्र सत्यार्थी मौजूद थे।