HEADLINES


More

by : pramod goyal
उत्तर प्रदेश में अमेठी से न
वनिर्वाचित सांसद स्मृति इरानी के एक क़रीबी सहयोगी की हत्या के बाद इलाक़े में तनाव बताया जा रहा है पुलिस इसे एक राजनीतिक हत्या मानने से इनकार नहीं कर रही है. अमेठी के अतिरिक्त एसपी दया राम ने पीटीआई को बताया कि बरौलिया गाँव के पूर्व सरपंच 50 वर्षीय सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात 11:30 बजे गोली मार दी गई जिसके बाद उन्हें लखनऊ ले जाया गया मगर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि दो लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.
by : pramod goyal
लोकसभा चुनाव के खत्म होने के साथ ही कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के करीबी राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई ने लुकआउट नोटिस जारी किया है. इसका मतलब है कि अगर राजीव कुमार विदेश जाने की कोशिश करते हैं तो उनकी यात्रा से पहले सभी एयरपोर्ट अथॉरिटी सीबीआई को सूचना देंगे. 23 मई को जारी किया गया यह नोटिस एक साल तक प्रभावी रहेगा.
राजीव कुमार पर शारदा चिटफंड और रोजवैली चिटफंड घोटाले की जांच के दौरान सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप है. इस मामले में सीबीआई राजीव कुमार को पूछताछ करने के लिए गिरफ्तार करना चाहती है. राजीव कुमार को 24 मई तक गिरफ्तारी से संरक्षण मिला हुआ था. गिरफ्तारी से छूट मिलने की अवधि बढ़ाए जाने के लिए राजीव कुमार सुप्रीम कोर्ट भी गए थे, जहां उन्हें झटका लगा था. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें कोलकाता हाईकोर्ट जाने के लिए कहा था.
by : pramod goyal
कुरुक्षेत्र। विदेश भेजने-जॉब प्लेसमेंट के नाम पर लोगों से पैसे लेकर काम न होने पर वापस मांगने वाले युवकों को छेड़छाड़ के केस में फंसाकर पैसे ऐंठने वाले सेंटर संचालक और उसकी महिला साथी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एडवोकेट दीपक शर्मा ने बताया कुरुक्षेत्र का राहुल विदेश जाना चाहता था। वह कुरुक्षेत्र में एक आईलेट्स कराने वाले सेंटर पर गया। सेंटर संचालक साहिल ने राहुल से फाइल खर्च के तौर पर 15 हजार रुपए लिए थे। 
सेंटर संचालक ने नए बस स्टैंड के सामने पैराडाइज कोचिंग सेंटर के नाम से नया सेंटर खोल लिया। राहुल वहां साहिल से बात करने कई बार गया। न उसकी विदेश और न जॉब प्लेसमेंट के लिए फाइल तैयार की। राहुल पैसे वापस लेने सेंटर पर गया था। राहुल ने सेंटर संचालक व वहां मौजूद लड़की के साथ पैसों के लेनदेन की रिकॉर्डिंग कर ली। 
साहिल व लड़की को पता चला तो उलझ पड़े। राहुल के मुताबिक उक्त लड़की संचालक की दोस्त है। सेंटर पर वह बतौर रिसेप्शनिस्ट काम करती है। पैसे वापस मांगने पर हंगामा किया। युवती ने उसके खिलाफ सेंटर में आकर अभद्र व्यवहार और वीडियो बनाने की शिकायत महिला थाने में कर दी। 
by : pramod goyal
करनाल. हरियाणा रोडवेज के करनाल डिपो में 7 माह से गायब 37 लाख की टिकटें सीढ़ियों के नीचे खस्ताहाल जगह पर मिली हैं। यहां सफाई कर्मचारी रूटीन में झाडू रखते हैं। जिस कट्टे में टिकटें मिली हैं, उस पर धूल तक नहीं जमी है। कट्टे में साफ सुथरी नई टिकटें पाई गई हैं। इन टिकटों को करनाल डिपो के जीएम अश्विनी डोगरा ने हड़ताल के दौरान लाेकल स्तर पर छपवाया था।
अब सवाल उठ रहे हैं कि टिकटें इस जगह पर कैसे रखी जा सकती हैं। किसकी लापरवाही है। इनको टिकट ब्रांच में क्यों नहीं रखा गया। वहीं, नवंबर में जिस कट्टे में टिकटें थीं, वह कट्‌टा भी बदला हुआ मिला है। इससे गड़बड़ी का शक गहरा गया है। आशंका जताई जा रही है कि इन टिकटों को किसी ने जानबूझकर छिपा रखा था या फिर दोबारा से नई टिकटों को छपवाकर रखा गया है। 
by : pramod goyal
फरीदाबाद। राजकीय कालेज की छात्रा पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालने के आरोप में फरार दो आरोपितो एसोसिएट प्रोफेसर सी एम वशिष्ठ और लैब अटेंडंट जगदेव को गिरफदार करने के लिए जे0सी0 बोस यूनिवर्सिटी वाई एम सी ए के प्रधान अनूप वशिष्ठ ने बैठक बुलाई और दोषी को गिरफदार करने के लिए नारेबाजी की वशिष्ठ ने कहा यौन उत्पीडन मामले में पुलिस को दो अन्य दोषीयो को तुरन्त गिरफदार किया जाना चाहिए दोनो दोषी दस दिनो से आजाद घूम रहे है वशिष्ठ ने कहा जल्दी ही प्रशासन से मिलकर फरीदाबाद के सभी कालेजो में महिला पुलिसकर्मी की तैनाती की मांग करेगे। प्रशासन कालेजो में छात्रायो की सुरक्षा को सुनिस्चित करे छात्राओ के साथ किसी भी प्रकार का अत्याचार बर्दास नही किया जाएगा। दोनो दोषियो को गिरफदार करके मामले की जांच करानी चाहिए प्रदर्शन करने वालो में प्रशांत उपाध्यक्ष ज्योतसना जतिन खत्री सचिव, अमन अश्वनी कशिश मनीषा गुंजन मधुर केतन कपिल आशीष यतिन अक्षय निष्ठा आशु प्रगति अनीषा काजल आदि छात्र मौजूद थे।

by : pramod goyal
फरीदाबाद- लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया संपन्न होते ही फरीदाबाद में विकास को गति देने के लिए उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित रेस्ट हाउस में अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागवार चर्चा की, लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया के चलते सुस्त पड़े विकास कार्यों की गोयल ने समीक्षा की और उन्हे गति देने पर ज़ोर दिया। गर्मी बढ़ने के साथ जहां-जहां पानी की किल्लत है उन इलाकों में पानी की आपूर्ति सुनिश्चत करने पर उन्होंने खास ध्यान दिया, गोयल ने बैठक में मौजू
द अधिकारियों को निर्देश दिया कि पूरे इलाके में पानी की निर्बाध सप्लाई सुनिश्चित करें, इसके अलावा जिन इलाकों में लाइटें बिगड़ी पड़ी हैं वहां तत्काल प्रभाव से बंद पड़ी लाइटों को बदला जाए और जहां अंधेरे से परेशानी हो रही है वहा सर्वे करा कर नई लाइटें लगाई जाएं। इससे पहले जनसंपर्क के दौरान कई इलाकों में लोगों ने पार्कों की और दूसरी समस्याओं पर मंत्री जी का ध्यान आकर्षित कराया था, सभी समस्याओं को संज्ञान में लेते हुए शिकायत के निराकरण की दिशा में प्राथमिकता के आधार पर कार्य पूरे करने पर कैबिनेट मंत्री ने ज़ोर दिया, कई जगह लोगों ने सड़कों की मांग की थी, सभी की मांगों पर गौर करते हुए उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जहां जहां सड़कें खराब हैं उन जगहों का सर्वे कर रिपोर्ट उनके समक्ष जल्द से जल्द प्रस्तुत करें, उन्होंने कहा कि एक बार प्रतिवेदन आने के बाद जल्द ही बजट सेंग्शन कराकर कार्यों को अतिशीघ्र पूरा किया जाए। कैबिनेट मंत्री ने साफ शब्दों ने कहा कि लापरवाही किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 
by : pramod goyal
फरीदाबाद।  फरीदाबाद के तीन वरिष्ष्ठ पत्रकारों  के खिलाफ  गैरकानूनी
तरीके से मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी करने के मामले में हाईकोर्ट ने प्रदेश
के आला पुलिस अधिकारियों को अदालत में जवाब दाखिल ना करने पर फटकार लगाई
है। इस मामले में पीडि़त पत्रकारों ने माननीय  हाईकोर्ट में याचिका दायर
की थी, जिसकी सुनवाई के दौरान हरियाणा एवं पंजाब हाईकोर्ट ने राज्य के
तत्कालीन डीजीपी बीएस संधू, फरीदाबाद के तत्कालीन पुलिस कमिश्नर अमिताभ
ढिल्लो, तत्कालीन डीसीपी सुखबीर सिंह पहलवान, क्राईम ब्रांच सैक्टर 30
के
प्रभारी रहे इंस्पेक्टर संदीप मोर सहित कुछ और पुलिस कर्मचारियों को
नोटिस जारी करते हुए कहा था कि क्यों ना इस मामले में आपके खिलाफ सुप्रीम
कोर्ट की अवमानना का मुकदमा चलाया जाए। इस मामले में 23 मई तक उपरोक्त
पुलिस अधिकारियों को अदालत में अपना जवाब दाखिल करना था। पंरतु उपरोक्त
तिथि तक उक्त अधिकारी अपना जवाब दाखिल नहीं कर पाए। 23 मई को हाईकोर्ट
में सुनवाई के दौरान हरियाणा के सीनियर डिप्टी अटार्नी जनरल ने अदालत से
प्रार्थना की कि उक्त पुलिस अधिकारियों को जवाब दाखिल करने के लिए कुछ और
समय की मोहलत दी जाए। इस पर माननीय न्यायमूर्ति निर्मलजीत कौर ने अदालत
में मौजूद संबंधित पुलिस अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि यदि अगली
तिथि तक जवाब दायर ना किया तो उन्हें इसकी भारी कीमत अदा करनी पड़ेगी।
अदालत ने इस मामले की अगली सुनवाई 3 सितंबर 2019 निश्चित की है। पीडि़त
पत्रकारों की ओर से अदालत में वरिष्ठ अधिवक्ता एस.एस. बराड़, एडवोकेट पवन
सांखला व ललित सांखला पेश हुए।
by : pramod goyal
नई दिल्ली: 
पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का दौर लगातार तीसरे दिन भी जारी है. तेल विपणन कंपनियों ने शनिवार को फिर तेल के दाम बढ़ा दिए. दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल के दाम 14 पैसे जबकि चेन्नई में 15 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए हैं. डीजल के दाम में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 12 पैसे जबकि चेन्नई में 13 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है.
by : pramod goyal
नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019  (Lok Sabha Election 2019)  में कांग्रेस अपनी करारी हाल को अभी भूली भी नहीं थी कि उसके सामने 6 और बड़े संकट खड़े हो गए हैं. कांग्रेस पार्टी पर अब आने वाले तीन राज्यों में- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन को लेकर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. इतना ही नहीं कांग्रेस के सामने मध्य प्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान में सरकार बचाने का भी संकट है. लोकसभा चुनाव परिणाम (Lok Sabha Election Result 2019) के दो दिन बाद यानी शनिवार  कांग्रेस  के खराब प्रदर्शन के कारणों पर मंत्रणा करने के लिए कांग्रेस कार्यकारिणी समिति (CWC)) की बैठक हुई. बताया जा रहा है कि इस बैठक में राहुल गांधी  (Rahul Gandhi)  ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन कांग्रेस कार्यकारिणी समिति के सदस्यों ने उनके इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया. सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को लेकर भी चर्चा हुई. कांग्रेस पार्टी को इस लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद थी. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार कर वोटरों को लुभाने की कोशिश भी की थी, लेकिन नतीजों ने कांग्रेस को बहुत आश्चर्य की स्थिति में डाल दिया. लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में कांग्रेस को 543 में से सिर्फ 52 सीटें ही मिलीं.  इसी प्रदर्शन के बाद कांग्रेस पार्टी इन 6 बड़ी संकटों से घिर गई है
.