HEADLINES


More

खोरी में दूसरे दिन भी दिखा प्रशासन की अपील का असर, लोगों द्वारा स्वयं मकानों को खाली करने की प्रक्रिया तेज

Posted by : pramod goyal on : Friday, 9 July 2021 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद जुलाई। खोरी क्षेत्र में माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार अवैध अतिक्रमण हटाने से पहले प्रशासन द्वारा लोगों को स्वयं सामान हटाने के लिए दिए गए समय का सकारात्मक परिणाम दूसरे दिन भी जारी रहा। शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोगों ने स्वयं अपने मकानों को खाली किया व मलबा भी उठाया। लोगों के स्वयं सहयोग के लिए सामने आने पर प्रशासन भी उन्हें भरपूर मदद कर रहा है। शुक्रवार को करीब 20 कबाडियो ने खोरी क्षेत्र में पहुंचकर लोगों से पुराना सामान खरीदा। इसके साथ ही पुराना बिल्डिंग मटेरियल खरीदने के लिए भी बड़ी संख्या में इस कार्य को करने वाले लोग वहां पर पहुंचे। शुक्रवार को ज्यादातर लोग अपने घरों के टीन सैड व अन्य सामान स्वयं उतारकर ले जाते दिखाई दिए। गौरतलब है कि खोरी क्षेत्र में माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार नगर निगम फरीदाबाद द्वारा 18 जुलाई तक अवैध अतिक्रमण हटाए जाने हैं। इसके लिए प्रशासन द्वारा संबंधित क्षेत्र में लगातार मुनादी करवाकर लोगों से स्वयं क्षेत्र को खाली करने की अपील की जा रही है। इसके साथ ही वहां पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वहां पर भारी संख्या में पुलिस बल ड्यूटी मजिस्ट्रेट व अन्य प्रशासनिक अमला तैनात किया गया है। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा लोगों को लगातार समझाया जा रहा है की माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुपालना हर हालत में की जाएगी। इसके साथ ही खाली हो रहे क्षेत्र को समतल करने के लिए बड़ी संख्या में अर्थ मूवर्स लगाए गए हैं। इसके साथ ही लोगों को अपना सामान ले जाने के लिए ट्रैक्टर ट्रॉली व ट्रक भी प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाए गए हैं। पिछले दिन से प्रशासन की अपील का सकारात्मक प्रभाव देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोग स्वयं अपना सामान लेकर जाते दिखाई दिए। उपायुक्त यशपाल ने इस दौरान लोगों से अपील की है कि वह स्वयं अपना कीमती सामान हुए बिल्डिंग मटेरियल उठाने में सहयोग करें। इस दौरान शुक्रवार को भी आयुक्त नगर निगम डॉक्टर गरिमा मित्तल उपायुक्त यशपाल व डीसीपी एनआईटी डॉ अंशु सिंगला ने कई बार खोरी क्षेत्र का दौरा किया वह लोगों को माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुपालन करने के निर्देश दिए।


No comments :

Leave a Reply