HEADLINES


More

बढ़ी हुई फीस व एनुअल चार्ज न देने पर बच्चों को हरासमेंट कर रहे हैं प्राइवेट स्कूल

Posted by : pramod goyal on : Wednesday, 24 February 2021 0 comments
pramod goyal
//# Adsense Code Here #//

 हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने स्कूल प्रबंधकों पर गैरकानूनी फीस को लेकर छात्र व अभिभावकों को हरासमेंट करने का आरोप लगाया है। मंच ने इसकी शिकायत चेयरमैन राष्ट्रीय बाल संरक्षण व अधिकार आयोग एनसीपीआरसी से करके दोषी स्कूलों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है। मंच का कहना है कि राष्ट्रीय बाल संरक्षण व अधिकार आयोग की गा


इडलाइन में कहा गया है कि फीस को लेकर बच्चों को हरासेटमेंट करना, उनकी ऑनलाइन क्लास रोकना,परीक्षा में न बैठने देना, प्रमोट न करना और गैरकानूनी फीस वसूलना एक कानूनन अपराध है। मंच का आरोप है कि स्कूल प्रबंधक इन गाइडलाइन का सरेआम उल्लंघन कर रहे हैं। मंच के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट ओपी शर्मा व प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने कहा है कि ग्रैंड कोलंबस, डीएवी 14, एनआईटी,49,व डीपीएस 19,8, बल्लमगढ़, मानव रचना, अरावली, विद्या निकेतन, एपीजे, आदि स्कूलों के पेरेंट्स ने मंच को बताया है कि स्कूल प्रबंधक अपने स्टाफ से फोन कराकर, नोटिस व मैसेज भेजकर बड़ी हुई ट्यूशन फीस, एनुअल चार्ज व अन्य फंडों में फीस मांग रहे हैं यह गैर कानूनी फीस जमा ना करने पर उनके बच्चों को हरासमेंट किया जा रहा है, स्कूल में नहीं बैठने दिया जा रहा है उन्हें परीक्षा एडमिट कार्ड नही  दिया जा रहा है और अगली कक्षा में प्रमोट न करने की धमकी दी जा रही है। अभिभावक नीति गोयल,सुषमा शर्मा, दीपक यादव, डिंपल गौड़ का कहना है कि उन्होंने हाईकोर्ट व शिक्षा विभाग के आदेश के तहत फरवरी तक की गत वर्ष की ट्यूशन फीस के अनुसार ट्यूशन फीस जमा करा दी है। लेकिन स्कूल प्रबंधक इसके अलावा अब बड़ी ही ट्यूशन फीस की राशि व एनुअल चार्ज मांग रहे हैं जिसका वह विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कई बार इसकी शिकायत चेयरमैन एफएफआरसी व जिला शिक्षा अधिकारी फरीदाबाद से की है लेकिन वे दोषी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने  की जगह उल्टा स्कूलों द्वारा मांगी जा रही इस गैर कानूनी फीस का ही समर्थन कर रहे हैं।

मंच ने सबूत के साथ प्राइवेट स्कूलों की इन मनमानी व एफएफआरसी व जिला शिक्षा अधिकारी की कार्यशैली की शिकायत चेयरमैन राष्ट्रीय बाल संरक्षण व अधिकार आयोग एनसीपीआरसी के साथ साथ प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री,व अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा डॉ महावीर सिंह से की है और दोषी स्कूलों की मान्यता रद्द करने व एनओसी वापस लेने की मांग की है। मंच के जिला अध्यक्ष एडवोकेट शिवकुमार जोशी व जिला सचिव डॉ मनोज शर्मा ने अभिभावकों से कहा है कि वह सिर्फ गत वर्ष वाली ही ट्यूशन फीस जमा कराएं इसके अलावा अन्य किसी फंड्स में एक पैसा भी ना दें। जो स्कूल प्रबंधक यह गैरकानूनी फीस मांग रहे हैं उनकी लिखित शिकायत स्कूल के मैसेज व नोटिस को लगाकर तुरंत चेयरमैन एनसीपीआरसी नई दिल्ली, चेयरमैन एफएफआरसी व जिला शिक्षा अधिकारी फरीदाबाद,अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा, शिक्षा निदेशक पंचकूला व मुख्यमंत्री को उनके मेल व ट्विटर पर भेजें और उसकी एक प्रति मंच के मेल नंबर ektamanch2015@gmail.com पर भी भेजें। जिस से दोषी  स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई कराई जा सके।

No comments :

Leave a Reply