HEADLINES


More

लीगल लिटरेसी के अंतर्गत घरेलू हिंसा से सावधान किया

Posted by : pramod goyal on : Thursday, 14 January 2021 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद के कानूनी शिक्षा प्रकोष्ठ, जूनियर रेड क्रॉस और सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड ने डलसा के सौजन्य से प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम के बारे में बच्चों को संबोधित करते हुए प्राचार्य, जे आर सी व एस जे ए बी प्रभारी रविन्दर


कुमार मनचन्दा ने कहा कि जिला कानूनी सेवाएं प्राधिकरण के सौजन्य से सभी स्कूल और कॉलेज में संबंधित विभागों के सहयोग से बाल अपराधों और अन्य विषयों पर कानूनी शिक्षा के माध्यम से विशेषकर बालिकाओं को कानूनी साक्षरता का ज्ञान उपलब्ध करवाया जाता रहा है घरेलू हिंसा, बाल हिंसा, यौन अपराध, लैंगिक भेदभाव या असमानता,  दहेज आदि मामलों में बच्चे जिला न्यायिक परिसर से मुफ्त कानूनी सलाह और मुफ्त में, केवल एक साधारण आवेदन पर ही वकील की सेवाएं ली जा सकती है उन्होंने बच्चों को बताया कि यदि आप घरेलू हिंसा का शिकार है तो इसका तुरंत विरोध करें, जोर से चिल्लाएं और अपने माता पिता, अविभावकों और अध्यापकों व प्राचार्य को भी बताएं ताकि गलत करने वालों चाहे वह निकट का रिश्तेदार, पड़ोसी व घर का सदस्य ही क्यों न हो, के खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्यवाही की जा सके। ऐसा करने से वह भविष्य में ऐसी हिंसा दोबारा करने के बारे में सोच भी नही पाएगा, यदि ऐसे मामलों की जानकारी माता पिता, अध्यापकों व उच्चाधिकारियों तक नही पहुचाई गई तो ग़लत कार्य करने वालों के हौसले बढ़ते जाएंगे और वे अधिक लोगों खासतौर पर बच्चों के साथ ऐसे अपराध करते जाएंगे। इस अवसर पर विद्यालय की बालिकाओं ताबिंदा, शिल्पा वर्मा, सिमरन, रोशनतारा, संध्या, सोना, निकिता, सोनी और कशिश ने घरेलू हिंसा से सचेत करते हुए पोस्टर्स बना कर जागरूक बनने जा आह्वान किया। प्राध्यापिका आशा वर्मा ने भी बच्चों को अपने हितों की सुरक्षा की लिए कानूनी सहायता को बहुत कारगर हथियार बताया। कार्यक्रम संयोजक रविन्दर कुमार मनचन्दा ने कहा कि बच्चों को नियम और कानून का ज्ञान और अन्य ज्ञानोपयोगी चर्चाएं डलसा के माध्यम से विद्यालय में समय समय पर दी जा रही हैं। लीगल लिटरेसी सैल अर्थात कानूनी सहायता प्रकोष्ठ की विद्यालय में स्थापना बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है जिससे बच्चों में कानूनी साक्षरता विकसित की जा रही है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने सुंदर आयोजन और घरेलू हिंसा पर बालिकाओं का जागृति कार्यक्रम आयोजित करने के लिए विशेष आभार प्रकट किया।


No comments :

Leave a Reply