HEADLINES


More

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय को ऊर्जा संरक्षण के लिए मिला प्रथम पुरस्कार

Posted by : pramod goyal on : Thursday, 3 December 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद, 3 दिसम्बर - जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद को ऊर्जा संरक्षण गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राज्य स्तरीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कारों में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। विश्वविद्यालय को 30


किलोवाट से अधिक कनैक्टेड लोड के संस्थानों एवं संगठन की श्रेणी में यह पुरस्कार प्रदान किया गया है।

 विश्वविद्यालय को यह पुरस्कार हरियाणा के बिजली और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री रणजीत सिंह द्वारा चंडीगढ़ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित राज्य स्तरीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार समारोह में प्रदान किया गया। विश्वविद्यालय को ऊर्जा बचत के विभिन्न उपायों के आधार पर वर्ष 2017-18 के लिए पुरस्कार मिला है। पुरस्कार के अंतर्गत एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार, प्रमाण पत्र और एक ट्रॉफी शामिल है।
यह पुरस्कार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने फरीदाबाद में अतिरिक्त उपायुक्त श्री सतबीर सिंह मान की उपस्थिति में ग्रहण किया। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की अध्यक्षा डॉ. पूनम सिंघल भी उपस्थित थीं।
कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि ऊर्जा संरक्षण गतिविधियों को बढ़ावा देने और ऊर्जा संरक्षण में बेहतरीन कार्य कर रही संस्थानों या संगठनों को सम्मानित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार स्थापित किए गए हैंैं। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा ऊर्जा की खपत को कम करने के लिए कई ठोस कदम उठाए गये हैं, जिसमें पुरानी बिजली फिटिंग को बदलना और परिसर में एलईडी लाइड व बल्ब के उपयोग को बढ़ावा देना शामिल हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के महानिदेशक डॉ. हनीफ कुरैशी भी मौजूद थे।

No comments :

Leave a Reply