HEADLINES


More

नाराज़ कर्मचारी व मजदूर 12 जनवरी को डीसी कार्यालय का घेराव करेंगे

Posted by : pramod goyal on : Monday, 11 January 2021 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद,11 जनवरी।

पुरानी पेंशन,डीए व बर्खास्त कर्मियों की बहाली न करने और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की नीति न बनाने से नाराज़ कर्मचारी व मजदूर 12 जनवरी को डीसी कार्यालय का घेराव करेंगे। घेराव में पूंजीपतियों के हकों में बनाए गए लेबर कोड़ों को वापस लेने की मांग के साथ ही किसान विरोधी कृषि कानूनों व बिजली संशोधन बिल 2020 के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के साथ एकजुटता भी प्रकट की जाएगी। यह घेराव सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व मजदूर संगठन सीटू के संयुक्त आह्वान पर किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री, जिला प्र

धान अशोक कुमार व सचिव बलबीर सिंह बालगुहेर ने बताया कि घेराव के लिए विभिन्न विभागों के कर्मचारी व मजदूर सेक्टर 12 ओपन एयर थियेटर में एकत्रित होंगे और वहां से अपनी मांगों के समर्थन और केन्द्र एवं राज्य सरकार की कर्मचारी व मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए जुलूस की शक्ल में डीसी आफिस घेराव के लिए मार्च करेंगे।

प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने बताया कि सीएम के आश्वासन के बावजूद बर्खास्त 1983 पीटीआई को अभी तक एडजस्ट नही किया गया है। आईटीआई में ठेकेदारों व प्रिंसिपल की मिली भगत से ठेका कर्मचारियों के हो रहे मानसिक व आर्थिक शोषण की मंत्री को शिकायत करने वाले कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार ने खेल कोटे में ग्रुप डी में भर्ती हुए हजारों कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। जबकि सरकार चाहती तो 1993 खेल नीति के अनुसार ग्रेडेशन सर्टिफिकेट को मान्यता देकर बेकसूर की नौकरी सुरक्षित कर सकती है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार ठेकेदार बदलने के बाबजूद सफाई कर्मचारियों को नौकरी से नहीं निकालने का पत्र जारी कर रही है। लेकिन इस पत्र को धत्ता बताते हुए कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड से 65 और आईटीआई से दर्जनों सफाई कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग में सफाई कर्मचारियों व सिक्योरिटी गार्ड सहित करीब 15 हजार ठेका कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त करने का फैसला लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम नगर निगम से पांच सौ से ज्यादा कर्मचारियों को तीन महीने से नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। वायदे के बावजूद भी इनको वापस नहीं लिया जा रहा है। हरियाणा टूरिज्म सहित कई विभागों में कर्मचारियों को तीन से चार महीने से वेतन तक नहीं मिल पा रहा है। जिसके खिलाफ कर्मचारी व मजदूर 12 जनवरी को डीसी कार्यलयों का घेराव करेंगे।

No comments :

Leave a Reply