HEADLINES


More

सीटू कार्यकर्ता कल 14 दिसंबर को किसान आंदोलन के समर्थन उपायुक्त कार्यालय के सम्मुख जोरदार धरना प्रदर्शन करेंगे

Posted by : pramod goyal on : Sunday, 13 December 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद 13 दिसंबर सीटू  जिला कमेटी फरीदाबाद के सैकड़ों कार्यकर्ता कल 14 दिसंबर सोमवार को देश के किसानों के आंदोलन के समर्थन  उपायुक्त कार्यालय के सम्मुख जोरदार धरना प्रदर्शन करेंगे। यह जानकारी सीटू के जिला प्रधान निरंतर पराशर, जिला सचिव लालबाबू शर्मा, एवं जिला उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने यहां से जारी एक बयान में दी। वीरेंद्र सिंह


डंगवाल ने यह भी बताया गत 12दिसंबर को  सराय  टोल प्लाजा को फ्री करवाने के लिए मेट्रो स्टेशन के पीछे  एकत्रित हुए सीटू के नेताओं को बिना वजह पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने पुलिस की इस कार्रवाई की कठोर शब्दों में निंदा की। उन्होंने बताया कि 12 दिसंबर को शनिवार के दिन किसानों ने देश के तमाम टोल प्लाजा ओं को फ्री करने का ऐलान किया था इस निर्णय के तहत सीटू जिला कमेटी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सराय के टोल पर एकत्रित होने का निर्णय लिया। जैसे ही सीटू का नेतृत्व वहां पर पहुंचा एसीपी सराय ख्वाजा ने ने 8 सीटू नेताओं  श्री निरंतर पाराशर, वीरेंद्र सिंह डंगवाल, विजय झा, वीरेंद्र पाल, नवल सिंह, रवि गुलिया, टेकचंद, किरण पाल, को जबरदस्ती पुलिस की बोलेरो गाड़ी में बैठने के लिए मजबूर किया। इतना ही नहीं एसीपी ने स्वयं सीटू के उप प्रधान विजय झा की पीठ पर दो मुक्के भी मारे। उनके रीडर के द्वारा यूनियन के नेताओं के साथ अभद्र व्यवहार किया गया। सेक्टर 37 के थाने में 2 घंटे तक बिठा कर रखा लेकिन हार्ट के मरीज 70 वर्ष के श्री टेकचंद को दवाई लेने के लिए पीने के लिए  पानी तक नहीं दिया गया। जब उन्हें सेक्टर 31 के थाने में ले गए वहां पर स्टाफ के साथियों ने उन्हें पीने का पानी उपलब्ध करवाया। डंगवाल ने पुलिस के आला अधिकारियों से सराय पुलिस थाने के रीडर के द्वारा सीटू के नेताओं के साथ दुर्व्यवहार करने के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने बताया कि बल्लभगढ़ की पुलिस ने आशा वर्कर यूनियन की जिला प्रधान हेमलता को मोबाइल फोन पर सराय टोल प्लाजा पर नहीं जाने की धमकी दी इसके साथ साथ जिला सचिव सुधा पाल के घर पर जाकर उन्हें डराया धमकाया। पुलिस की यह कार्रवाई लोकतांत्रिक अधिकारों पर सीधा हमला करती है। सीटू नेतृत्व  ने राज्य कमेटी के निर्देश पर रिलायंस की जीयो  सिम के अलावा रिलाईंस व अडाणी  के  पैट्रोल पंपों से डीजल पेट्रोल नहीं भरवाने का निर्णय पहले ही ले लिया था। सीटू जिला कमेटी किसानों के आंदोलन का समर्थन करती है। इसलिए उनके हर संघर्ष में साथ देगी।

No comments :

Leave a Reply