HEADLINES


More

प्लास्टिक मुक्त भारत की दिशा में सामाजिक संस्थाओं का सहयोग सरहनीय

Posted by : pramod goyal on : Tuesday, 13 October 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद:- देश के प्रधानमंत्री की पहल पर शुरू हुए स्वच्छ भारत अभियान का गुणगान दुनिया कर रही है। इस अभियान के भी पांच साल पूरे होने जा रहे हैं। प्लास्टिक और स्वच्छता का आपस में बहुत घनिष्ट नाता है। अगर देश को स्वच्छ रखना है तो सबसे पहले हमें इस देश को प्लास्टिक मुक्त करना होगा। जिसमे देश के प्रत्येक नागरिक का अपना अपना योगदान होना बहुत जरुरी है।

इस अवसर पर सोनू नव चेतना फाउंडेशन , संभार्य फाउंडेशन और ज

ज्बा फाउंडेशन ने आज ग्राम पंचायत चंदवाली में जूट व कपड़े के बैग वितरण कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम के दौरान डॉ दुर्गेश ने बताया कि 20वीं सदी का प्लास्टिक चमत्कार आज 21वीं सदी में गले की फांस बन चुका है। हमारे देश में भगवान को सर्वव्यापी मानते है लेकिन आज प्लास्टिक ने वैसी ही जगह ले ली है। हर गांव-शहर व देश-दुनिया का कोई भी ऐसा कोना नही बचा जहां प्लास्टिक ने विनाश ना कर दिया हो। जल, थल और वायु, सर्वत्र, सर्वव्यापी अविनाशी बना हुआ है।


असल में सिंगल यूज प्लास्टिक ही हमारे जी का जंजाल बना हुआ है। क्योंकि ये दुबारा किसी भी तरह उपयोग मे नहीं आता। इसकी प्रवृत्ति ऐसी है कि अगर ये पृथ्वी पर होगा तो जानवरों के पेट से लेकर नदी नालों तक को जाम कर देगा। और अगर इसे जला दिया जाये तो आसमानी संकट पैदा कर देगा। क्योंकि इसका धुंआ वायुमंडल को ही नही बल्कि ओजोन परत को भी छेड़ने से नही चूकता।

No comments :

Leave a Reply