HEADLINES


More

आयुष अस्पताल में एडमिट रहने का नकली सर्टिफिकेट और पैसों की नकली रसीद जारी करने वाले डॉक्टर को किया गिरफ्तार

Posted by : pramod goyal on : Saturday, 24 October 2020 0 comments
pramod goyal
//# Adsense Code Here #//

 फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने सराहनीय कार्य करते हुए मारपीट के मामले में संलिप्त एक आरोपी को बचाने हेतु आयुष अस्पताल का नकली एडमिट सर्टिफिकेट बनाने वाले एक आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।


आरोपी की पहचान डॉ सतीश कुमार जिला गाजीपुर यूपी हाल आयुष हॉस्पिटल नगला पार्ट 2 फरीदाबाद के रूप में हुई है।

आपको बता दें कि मामला थाना सूरजकुंड का है दिनांक 3 मार्च 2020 को शिकायतकर्ता कृष्ण कुमार निवासी डेरा गुरुकुल फरीदाबाद ने पुलिस को शिकायत दी कि विजय, रोहित और 3/4 लड़कों निवासी आनंगपुर ने उसके घर में आकर उसके और उसके परिवार वालों के साथ मारपीट की है। मारपीट के दौरान आरोपियों ने शिकायतकर्ता की गर्भवती भाभी को चोट मारी थी जिसके कारण गर्भपात हो गया था। जिस पर आरोपियों के खिलाफ थाना सूरजकुंड में मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस ने उपरोक्त केस में कार्यवाही करते हुए मामले को अंजाम देने वाले आरोपी रोहित निवासी आनंगपुर, नरेंद्र उर्फ नींदे गांव अनंगपुर को दिनांक 21.3. 2020 को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश कर दिनांक 22 मार्च 2020 को जेल भेज दिया था।

मुकदमे में शामिल मुख्य आरोपी विजय निवासी आनंगपुर ने माननीय अदालत में अग्रिम जमानत रद्द होने पर

माननीय हाईकोर्ट में जमानत हेतु अर्जी लगाई थी।

आरोपी विजय ने अपने बचाव के लिए आरोपी डॉक्टर सतीश से आयुष अस्पताल में एडमिट रहने का नकली सर्टिफिकेट और नकली पैसो की रसीद बनवाई थी।

पुलिस ने डॉक्टर के द्वारा जारी किए गए सर्टिफिकेट की जांच की तो पाया कि यह नकली है। जिस पर पुलिस ने बिना देरी के आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया कि आरोपी विजय कई अपराधिक मामलों में संलिप्त है जो कि एक आदतन अपराधी है। आरोपी विजय की हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की सुनवाई पेंडिंग है। आरोपी विजय के खिलाफ़ सभी तथ्य माननीय न्यायालय हाई कोर्ट के आगे पेश कर आरोपी की जमानत खारिज कराई जाएगी।

पुलिस ने आरोपी के कब्जे से नकली दस्तावेज भी बरामद किए है,, आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

No comments :

Leave a Reply