HEADLINES


More

ऑन लाईन चुनाव कराने को लेकर वकीलो ने की नारेबाजी

Posted by : pramod goyal on : Friday, 11 September 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//

फरीदाबाद।


एक अक्टूबर को होने जा रहे ऑन लाईन चुनावों को लेकर आज जिला बार ऐसोसिएशन, फरीदाबाद के वकीलों ने ऑन लाईन चुनाव के खिलाफ नारेबाजी की और चुनावों को ऑन लाईन कराये जाने का पूर्ण रूप से विरोध किया, बार काउंसिल पंजाब एण्ड हरियाणा ने चुनाव की तिथि का सुडूल जारी करके चुनाव की घोषणा जारी कर दी। जिला बार ऐसोसिएशन के पूर्व प्रधान जे0पी0 अधाना व बार काउंसिल पंजाब एण्ड हरियाणा के पूर्व मनोनित सदस्य शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने कहा कि चुनाव के समय यदि सर्वर में कोई समस्या आ जाती है या फिर इन्टरनेट सही तरीके से कार्य नहीं करता है तो चुनावों का नतीजा सही नहीं आ पायेगा और बार काउंसिल पंजाब एण्ड हरियाणा चुनाव लड़ चुके अधिवक्ता प्रदीप परमार व अनिल पाराशर ने कहा कि ऑन लाईन चुनाव सम्बंधि सभी अधिवक्ताओं को ना है और इससे चुनाव के परिणामों को प्रभावित करने की सम्भावना अधिक हो जाती है और अधिवक्ताओं की चुनाव सूचि में जो मोबाईल न0 दर्ज है अधिकतर अधिक्ताओं ने मोबाइल नम्बर बदल दिये है जिससे कि चुनाव सम्बंधि लिंक उन तक नहीं पहुच पायेगा और इस वजह से अधिकतर अधिवक्ता अपना मत डालने से वंचित रह जायेंगे और यह बात भी गौर करने के योग्य है कि अभी तक अदालतों प्रत्यक्ष रूप से किसी प्रकार की कोई सुनवाई ना हो रही है और ना ही ऑन लाईन सभी अदालते चलाई जा रही है क्योंकि इन्टरनेट सुविधा का अभाव है और कई अधिवक्ताओं पर स्मार्ट फोन नहीं है जिस वजह से ऑन लाईन सुविधाओं को इस्तेमाल नही कर पाते है इसलिए ऑन लाईन चुनाव किसी भी प्रकार से अधिवक्ताओं के हक में नहीं है। इसके लिए सैकडों अधिवक्ताओं ने हस्ताक्षर अभियान चलाकर पहले ही ऑन लाईन चुनावो का विरोध किया है। इसलिए फरीदाबाद बार ऐसोसिएशन के वकीलों ने मांग की है कि बार ऐसोरिएशन के चुनाव ऑन लाईन ना कराकर सामान्य तरीके से कराया जाये। इस मौके पर ललित बैसला, राजेश बैसला, कृपा राम, मनमीत कौर, सूरज चन्दीला, प्रेमदत्त भारद्वाज, सतेन्द्र आधाना, विजय शर्मा, विरेन्द्र धनकड, लक्ष्मी नारायण, गिर्राज सिंह, लक्ष्मण तंवर, ओमदत्त कौशिक, पवन कौशिक, निर्मल वेदी, महेन्द्र गर्ग, नरेन्द्र शर्मा, कुलदीप जोशी, कमल भाटी, विजय यादव, बिल्लू धनकड, दिनेश शर्मा, प्रदीप कुमार, राजेश कुमार आदि सैकडों अधिवक्ता मौजूद थे। 



No comments :

Leave a Reply