HEADLINES


More

स्वास्थ्य ठेका कर्मियों का आंदोलन रंग लाया, अनुबंध तीन महीने बढ़ाने का निर्णय

Posted by : pramod goyal on : Tuesday, 16 June 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//
फरीदाबाद। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के नेतृत्व में चला स्वास्थ्य ठेका कर्मियों का आंदोलन रंग लाया। स्वास्थ्य मंत्री ने  सिक्योरिटी गार्ड व सफाई कर्मचारियों सहित सभी ठेका कर्मियों के 30 जून को खत्म हो रहे अनुबंध को तीन महीने बढ़ाने का निर्णय लिया। जिसके आदेश सोमवार को सिविल सर्जन कार्यालय में पहुंच गए हैं। आदेशानुसार अब 30 जून तक विभाग में कार्यरत कोई भी ठेका कर्मचारी नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। स्वास्थ्य ठेका कर्मचारी यूनियन हरियाणा के बेनर तले सोमवार को सामान्य हस्पताल में कर्मचारियों की आम सभा का आयोजन कर तीन महीने हुए सेवा विस्तार होने पर प्रसन्नता व्यक्त की। लेकिन तीन महीने बाद छंटनी की तलवार फिर से लटकाने पर नाराज
गी भी जाहिर की। आम सभा को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों का अनुबंध 30 सितंबर तक बढ़ाने के फैसले को देरी से उठाया गया अधूरा कदम बताया है। उन्होंने एलान किया कि जब तक कोरोना योद्वा कहे जाने वाले स्वास्थ्य ठेका कर्मियों को ठेकेदार बीच से हटकर सीधे विभाग के पे-रोल पर करने,24 हजार न्यूनतम वेतन और 58 साल तक सेवा सुरक्षा देने आदि मांगों का समाधान नहीं होगा,तब तक आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने सभी ठेका कर्मचारियों को 50 लाा रुपए एक्स ग्रेसिया राशि में कवर करने व हर महीने 7 तारीख तक वेतन का भुगतान करने की मांग को भी उठाया।
आम सभा में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष लांबा के अलावा जिला सचिव बलबीर सिंह बालगुहेर, खंड फरीदाबाद के प्रधान करतार सिंह, बल्लभगढ़ के प्रधान रमेश चंद्र तेवतिया,नगर निगम सफाई कर्मचारी यूनियन के नेता श्रीनंद ढकोलिया,दर्शन सोया आदि मौजूद थे। मीटिंग में दस दिन के अंदर सभी पीएचसी, सीएचसी व जरनल हस्पताल में कार्यरत ठेका कर्मचारियों को यूनियन का सदस्य बनने और जिला सम्मेलन करते हुए जिला कमेटी का नया चुनाव करने का फैसला लिया गया है। आम सभा में हरियाणा सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले की आड़ में दस साल की सेवा करने के बाद 1983 पीटीआई को नौकरी से निकालने के फैसले की निंदा करते हुए सरकार से इनकी सेवाएं बहाल करने के विकल्प तलाशने की मांग की गई। सभा में मार्किट कमेटी हिसार के सेक्रेटरी के साथ सरकारी ड्यूटी पर मारपीट करने वाली भाजपा नेता सोनाली फौगाट व मारपीट में शामिल उसके अन्य सहयोगियों की अभी तक गिरफ्तारी न करने पर कड़ी नाराजगी जताई और उन्हें तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की गई। ठेका कर्मचारी यूनियन के नेताओं ने कहा कि जिन कोरोना योद्वाओं की हौसला अफजाई में तालियां व तालियां बजाने और लाईट बंद कर दीये जलाने और हैलीकॉप्टर से फूल बरसाने का काम सरकार कर रही है,उन योद्वाओं की नौकरी को केवल तीन महीने का जीवनदान दिया गया है। इसका मतलब तीन महीने बाद फिर 11 हजार ठेका कर्मचारियों पर छंटनी की तलवार लटका दी है। जिसका एकजुट होकर विरोध किया जाएगा।

No comments :

Leave a Reply