HEADLINES


More

छंटनी से खफा कोरोना योद्वा कहे जाने वाले स्वास्थ्य विभाग के सिक्योरिटी गार्ड, सफाई कर्मचारी व अन्य ठेका कर्मि सड़कों पर उतरे

Posted by : pramod goyal on : Saturday, 13 June 2020 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//
फरीदाबाद।
अपनी छंटनी से खफा कोरोना योद्वा कहे जाने वाले स्वास्थ्य विभाग के सिक्योरिटी गार्ड, सफाई कर्मचारी व अन्य ठेका कर्मियों ने शनिवार को सड़कों पर उतर आए। इन ठेका कर्मचारियों ने बडखल विधानसभा क्षेत्र की विधायक सीमा तिरखा के सेक्टर 21 स्थित आवास पर अपनी पहली जुलाई से होने वाली छंटनी के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रर्दशन किया। प्रर्दशन के बाद सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री, जिला सचिव बलबीर सिंह बालगुहेर,युद्धवीर सिंह खत्री,प्रचार सचिव मुकेश बेनीवाल, राकेश चिंडालिया, रघुबीर चौटाला व नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के उप प्रधान श्रीनंद ढकोलिया के नेतृत्व में विधायक को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें पहली जुलाई से कोरोना योद्वाओं की कि जाने वाली छंटनी पर रोक लगाने, ठेकेदारों को बीच से हटकर सीधे विभाग के पे रोल पर लेने और न्यूनतम वेतन 24 हजार से कम न देने की मांग की। सीमा तिरखा ने  आश्वासन दिया कि वह सोमवार को चंडीगढ़ जाएंगी और स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात करेंगी और पर रोक लगाने की मांग करेंगी। उन्होंने कहा कि लाकडाउन पीरियड में किसी की भी छंटनी हो,वह इसके बिल्कुल खिलाफ है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा और स्वास्थ्य ठेका कर्मचारी यूनियन हरियाणा की जिला सांगठनिक कमेटी के नेताओं ने विधायक के सामने दो टूक शब्दों में कहा कि कोविड 19 जैसी महामारी में कोरोना योद्वाओं स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों को नौकरी से निकाल कर कर्मचारियों को हड़ताल जैसे कठोर कदम उठाने पर मजबूर कर रही है। उन्होंने कहा कि 22 जून तक छंटनी के खिलाफ प्रदेश के सभी विधायकों को ज्ञापन सौंपे जाएंगे। इसकी बावजूद स्वास्थ्य विभाग छंटनी करने पर आमादा रहा तो स्वास्थ्य विभाग के ठेका कर्मचारी काम छोड़कर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ जाएंगे। जिससे जनता को होने वाली सभी प्रकार की दिक्कतों के लिए सरकार जिम्मेदार होगी। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार इन ठेका कर्मचारियों को कोरोना योद्वा बताकर तालियां व थालियां बजवाने,लाईट बंद कर दीये जलाने और हैलीकॉप्टर से फूल बरसाने का ढोंग कर रही है और दूसरी तरफ इन योद्वाओं के पेट पर लात मारकर नौकरी से निकाल रही है। क्या यही है सरकार का असली चेहरा ?
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने कहा कि सरकार कोरोना महामारी का अवसर के तौर पर प्रयोग करते हुए स्वास्थ्य विभाग से सिक्योरिटी गार्ड व सफाई कर्मचारियों सहित कई सालों से लगे वार्ड सर्वेंट, लिफ्ट मेन, धोबी , इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, सेवादार,कम्पुयटर आपरेटर,चतुर्थ श्रेणी के करीब 11 हजार ठेका कर्मचारियों को नौकरी से निकालने पर तुली हुई है। विभाग ने सिक्योरिटी गार्ड की जगह होमगार्ड को लगाने का फैसला कर लिया है और अन्य पदों पर भर्ती के लिए टेंडर प्रक्रिया जारी हो चुकी है।  जिसको लेकर कर्मचारियों में भारी गुस्सा है।


No comments :

Leave a Reply