HEADLINES


More

क्या कहता यह चित्र, तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी हैरान हूँ मैं

Posted by : pramod goyal on : Friday, 11 October 2019 0 comments
pramod goyal
//# Adsense Code Here #//
फरीदाबाद। क्या कहता यह चित्र, फरीदाबाद विधान सभा से वर्तमान और पूर्व प्रत्याशी मुख्यमंत्री के साथ इस तरह खुश नजर आ रहे कि कोई यह अंदाजा ही नहीं लगा पा रहा है कि इनमें से वाकई सभी खुश है , या फिर यह सब दिखावा मात्र है। पूर्व प्रत्याशी कैबिनेट
मंत्री विपुल गोयल के बारे में तो फिल्म की बस यही पंक्ति सूझ रही ----
तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी, 
हैरान हूँ मैं, हो हैरान हूँ मैं, तेरे मासूम सवालों से परेशान हूँ मैं ! टिकट कटने के बाद विपुल गोयल को बस यही संतोष है कि टिकट किसी दूसरे को न मिलकर उनके अपने चहेते नरेंदर गुप्ता को मिला है। और विपुल गोयल व उनकी पूरी टीम अपनी इस टीस को भुलाकर भाजपा प्रत्याशी नरेंदर गुप्ता के चुनाव प्रचार में जुट गई गई है।  ताकि इस विधान सभा से कोई अन्य दल का प्रत्याशी न जीत सके और यह सीट भाजपा के ही कब्जे में रहे। 

No comments :

Leave a Reply