HEADLINES


More

बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनावी माहौल रोचक स्थिति में

Posted by : pramod goyal on : Wednesday, 4 September 2019 0 comments
pramod goyal
//# Adsense Code Here #//
फरीदाबाद। बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनावी माहौल रोचक स्थिति में दिखाई पड़ने लगा है । मौजूदा भाजपा विधायक मूलचंद शर्मा को जहां भीतरघात का बड़ा खतरा हो सकता है , वहीं उन्हें निर्दलीय मैदान में कूदने को तैयार शैलेन्द्र सिंह से कड़ी टक्कर लेनी पड़ सकती है । शैलेन्द्र सिंह ने धुंआधार प्रचार के साथ जनसंपर्क 
करना शुरू कर दिया है ।
भाजपा के अलावा अन्य राजनीतिक दल हरियाणा में अपने अस्तित्व के बचाने के लिए छटपटा रहे हैं । ऐसी स्थिति में निर्दलीय प्रत्याशी मजबूत स्थिति में दिखाई पड़ सकते हैं । जहां तक बल्लभगढ़ के राजनीतिक हालात की बात है कांग्रेस ने यहां से आनन-फानन में लखन सिंगला को प्रत्याशी बनाया था । कांग्रेस की तब की विधायक ने टिकट के लिए भाजपा की चौखट पर दस्तक दे दी थी । कांग्रेस के लिए इस बार भी हालात बदतर बने हुए हैं ।
अन्य पार्टियों का यहाँ हाल ठीक नहीं है । संयुक्त आंदोलन से जुड़े शैलेन्द्र सिंह ने कहा है कि सरकार का ई-कॉमर्स को बढ़ावा देना छोटे व मध्यम दर्जे के व्यापारियों के लिए  बड़ी मुसीबत की तरह हो सकता है । उनका धंधा चौपट हो सकता है । सत्ता में रहते कांग्रेस और भाजपा गठबंधन की सरकारों ने देश के खुदरा क्षेत्र में बहुराष्ट्रीय कंपनियों को छूट देकर उनके सामने गंभीर संकट की स्थिति उत्पन्न कर दी है । यह हाल तब है जब व्यापारी वर्ग इन दलों को अपना हितैषी मानकर वोट और धनबल से मदद करता आया है ।
शैलेन्द्र सिंह ने स्पष्ट किया है कि ई-कॉमर्स ( यानी इन्टरनेट से खरीद-फरोख्त ) के मामले में देशी कंपनी भी कम नहीं हैं । रिलायंस जैसी भीमकाय कंपनी किसी से पीछे नहीं है । एक अनुमान के मुताबिक ऐसे हालात में छोटे व मध्यदर्जे के व्यापारियों का कारोबार 2022 तक नाम मात्र को भी बचना संभव नहीं होगा ।

No comments :

Leave a Reply