HEADLINES


More

शहर की बिगड़ी हुई सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए निगम अधिकारियों ने कमर कसी

Posted by : pramod goyal on : Wednesday, 25 September 2019 0 comments
pramod goyal
Saved under : , ,
//# Adsense Code Here #//
फरीदाबाद। शहर की बिगड़ी हुई सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त श्रीमती सोनल गोयल के नेतृत्व में निगम के अधिकारियों ने कमर कस ली है। निग्मायुक्त आज एक बार फिर पूर्व दोपहर निगम के अतिरिक्त आयुक्त विक्रम, अधीक्षण अभियंता बीरेन्द्र करदम, स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदयभान शर्मा, कार्यकारी अभियंता दीपक किंगर, श्याम सिंह, सहायक अभियंता सुरेन्द्र खट्टर, सलाहाकार चन्द्रदत्त शर्मा व स्वच्छ भारत मिशन के टीम लीडर राकेश श्रीवास्तव, सहायक सफाई निरीक्षक राजेन्द्र दहिया और इको ग्रीन कंपनी के क्षेत्रिय प्रबंधक मनीष अग्रवाल के साथ शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने के लिए निकल पड़ी।
निग्मायुक्त के नेतृत्व में इस टीम ने राहुल कालोनी स्थित महावीर अस्पताल, एन.एच.-5 मीट मार्किट, के.सी. सिनेमा मोड़, एन.एच.-4 स्थित हनुमान मंदिर, एसजीएम नगर के नजदीक स्थित शमशान घाट, आईटीआई रोड स्थित गांधी कालोनी, सुलभ शौचालय, गोल चक्कर, एच.एच-5 स्थित बांके बिहारी मंदिर, नीलम-बाटा रोड स्थित रोनाल्ड होटल व आकाश होटल, बाटा चैक स्थित आॅटो मार्किट, बाटा-हार्डवेयर रोड पर स्थित जीबीटी लाईब्रेरी, हार्डवेयर चैक स्थित मीट मार्किट खत्तों का निरीक्षण किया।
निग्मायुक्त श्रीमती सोनल गोयल ने खत्तों से ठीक ढंग से कूड़ा न उठाये जाने पर इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए अपनी कार्य प्रणाली में सुधार करने के निर्देश दिए। निगम अधिकारियों के उक्त निरीक्षण के दौरान पाया गया कि इको ग्रीन कंपनी के द्वारा खत्तों के साथ लगती हुई सड़क पर भी कूड़ा डाला हुआ पाया गया और न ही इन खत्तों पर कंपनी के द्वारा किसी कर्मचारी को तैनात किया हुआ पाया, जिसके परिणामस्वरूप न केवल दुर्घटना घटित हो सकती है बल्कि पैदल चलने वाले नागरिकों को भी काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। लगभग सभी खत्तों पर मुंह मारते हुए आवारा पशुओं को रोकने के लिए किसी कर्मचारी को तैनात भी नहीं पाया गया। खत्तों के नजदीक लगती हुई सड़क पर कूड़ा बीनने वालों को बिना किसी सुरक्षा उपकरण और पहचान पत्र के कूड़ा बिनते पाया गया, लगभग सभी खत्तों पर कूड़े के साथ मिट्टी उठाये जाने के कारण वहां पर बड़े-बड़े गडढ्े पाए गए जिसके परिणामस्वरूप बारिश के मौसम में किसी भी प्रकार की घटना घटित हो सकती है।
निग्मायुक्त ने कंपनी अधिकारियों को चेतावनी दी कि या तो वो एग्रीमेंट की शर्तों के अनुसार कर्मचारियों, वाहनों को तैनात करते हुए ठीक ढंग से कार्य करें अन्यथा कड़ी कार्यवाही के लिए तैयार रहे। दौरे के दौरान कुछेक स्थानों पर गोबर पड़ा पाए जाने पर निग्मायुक्त श्रीमती गोयल ने गहरी नाराजगी प्रकट करते हुए गोबर डालने वाले लोगों की पहचान कर उनके विरूद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदयभान शर्मा को दिए।

No comments :

Leave a Reply